कांग्रेस किसके पक्ष में, हिन्दुस्तान या पाकिस्तान के : राम माधव

Sriprakash
March 24, 2019


गुवाहाटी, 24 मार्च। भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव राम माधव ने रविवार को कांग्रेस पार्टी पर आरोप लगाते हुए सवाल उठाया कि कांग्रेस हिन्दुस्तान के पक्ष में है या पाकिस्तान के पक्ष में, यह निर्णय करना कई बार कठिन हो जाता है। कांग्रेस ऐसी पार्टी है जो देश की सेना के ऊपर भी संदेह करती है। देश की जनता इस बात को समझ चुकी है कि कांग्रेस की क्या नीति है।
रविवार को राजधानी के हेंगराबाड़ी स्थित अटल बिहारी वाजपेयी भवन में एक संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए राम माधव ने कांग्रेस पर आरोप लगाया कि असम में कांग्रेस पार्टी एआईयूडीएफ के साथ मिलकर चुनाव जीतने की कोशिश में लगी हुई है। लेकिन, इसमें उसे सफलता नहीं मिलेगी। राम माधव ने दावा किया कि भाजपा को राज्य की कुल 14 सीटों में से कम से कम 10 सीटें जरूर मिलेंगी। जबकि पूरे पूर्वोत्तर के 7 राज्यों की 24 सीटों में से 20 सीटें भाजपा को इस चुनाव में मिलेंगी। क्योंकि भाजपा के नेता सरकार का रिपोर्ट कार्ड लेकर जनता के बीच में गए हैं और जनता ने भाजपा की पूरी सराहना की है। इसलिए इस बार फिर केंद्र में मोदी सरकार अवश्य बनेगी।
राम माधव ने दावा किया कि त्रिपुरा और मणिपुर में भाजपा के पक्ष में चुनाव परिणाम आएंगे। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पूर्वोत्तर के प्रति हमेशा ही विशेष ध्यान देते रहे हैं। उन्होंने बताया कि 2019 के लोकसभा चुनाव के दौरान चुनाव प्रचार करने प्रधानमंत्री मोदी 3 बार आसाम आएंगे।
एक प्रश्न के उत्तर में उन्होंने कहा कि भाजपा वंशवाद को प्रोत्साहन देने वाली पार्टी नहीं है। उन्होंने यह भी स्पष्ट किया कि राज्य के वरिष्ठ मंत्री तथा नॉर्थ-ईस्ट डेमोक्रेटिक एलाइंस (नेडा) के संयोजक डॉ हिमंत विश्वशर्मा को इसलिए चुनाव में टिकट नहीं दिया गया, क्योंकि वे पूरे पूर्वोत्तर में चुनाव प्रचार करेंगे। उन्हें चुनाव प्रचार के साथ-साथ विकास के कार्यों का भी दायित्व दिया गया है।
उन्होंने संवाददाताओं के प्रश्न का उत्तर देते हुए कहा कि पार्टी को आगे ले जाने वाले उम्मीदवारों को ही चुनाव में टिकट दिया गया है। उन्होंने यह भी कहा कि पार्टी के जिन वरिष्ठ सांसदों को चुनाव में टिकट नहीं दिया गया है उन्हें पार्टी में महत्वपूर्ण स्थान दिया जाएगा। भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव ने कहा कि वर्तमान सांसदों के साथ विचार-विमर्श करके ही पार्टी ने उन्हें चुनाव में टिकट नहीं देने का निर्णय लिया है।
उल्लेखनीय है कि इस संवाददाता सम्मेलन के दौरान राम माधव के साथ डॉ हिमंत विश्वशर्मा, गुवाहाटी की वर्तमान सांसद विजया चक्रवर्ती, मंगलदै के सांसद रमेन डेका, गुवाहाटी लोकसभा क्षेत्र की भाजपा उम्मीदवार क्वीन ओझा तथा राज्य सरकार के शिक्षा मंत्री सिद्धार्थ भट्टाचार्य भी राम माधव के साथ मंच पर मौजूद थे। राम माधव ने कहा कि विपक्षी दलों के पास कोई मुद्दा नहीं है। केंद्र की 5 वर्ष की मोदी सरकार तथा राज्य की 3 वर्ष की सर्वानंद सोनोवाल सरकार के कार्यकाल में हुए कार्यों के आधार पर भाजपा को चुनाव में निश्चित रूप से जीत हासिल होगी। संवाददाताओं के कई प्रश्नों का राम माधव ने इस दौरान उत्तर दिए।
/श्रीप्रकाश